July 16, 2024

कानपुर: रक्षा क्षेत्र में देश को आत्मनिर्भर बनाने के प्रयासों के तहत, अडानी डिफेंस सिस्टम्स की आर्म्स फैक्ट्री कानपुर में तैयार हो रही है। इस फैक्ट्री का उद्घाटन अगले कुछ हफ्तों में होने की संभावना है, जिसमें इस्राइल से ट्रांसफर की गई तकनीक का 100% उपयोग हो रहा है। यहां शॉर्ट रेंज कार्बाइन, पिस्टल, स्नाइपर राइफल, और बुलेट जैसी आर्म्स बनाई जाएंगी, जो हाथ में होल्ड की जा सकेंगी।

डिफेंस कॉरिडोर के कानपुर नोड में स्थित इस फैक्ट्री का उद्घाटन अमित बीती दिनों में हो सकता है। इस फैक्ट्री में गोला-बारूद निर्माण की जा रही है, और इसका निवेश कुल मिलाकर 1500 करोड़ रुपये है। इससे नौकरीयों का भी एक बड़ा खजाना खुलेगा, और यह फैक्ट्री एशिया की सबसे बड़ी गोला-बारूद निर्माण यूनिट बनने की दिशा में है।

इस फैक्ट्री की गति तेज हो रही है, और इसमें इस्राइल से आई तकनीक के साथ छोटे हथियारों का निर्माण शुरू हो चुका है, जिनकी टेस्टिंग भी की जा रही है। यहां बनने वाले हथियारों में ऑटोमेटिक प्लांट के माध्यम से बनाए जाएंगे, और इन्हें सेनाएं और पैरामिलिट्री फोर्स के लिए तैयार किया जा रहा है।

कॉरिडोर के कानपुर नोड में बनने वाले इस आर्म्स एंड एम्यूनिशन कॉम्प्लेक्स में कुल 21 एमओयू साइन किए गए हैं, जिनमें अडानी डिफेंस सिस्टम्स एंड टेक्नॉलजीज, जेनसर एयरोस्पेस, अनंत टेक्नॉलजीज, और एंड्योर एयरोसिस्टम्स प्रमुख हैं। इन कंपनियों की संयुक्त निवेश राशि 9729.58 करोड़ रुपये है, जिससे यहां लगभग 17 हजार नौकरियां बनेंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *